Latest 766+ Aankhen Shayari In Hindi 2023 | आँखें शायरी हिंदी

दुश्मन बनी बैठी है यह शहर भर की इमारते !!
जब से एक महबूब की आंखें गली से लड़ी है !!

aankhen shayari,
shayari on aankhen,
aankhen shayari in hindi,
aankhen quotes in hindi,
2 line shayari on eyes in hindi,
aankhen shayari hindi,
shayari aankhen,
meri aankhen shayari,
aankhen shayari 2 line,
shayari on eyes in hindi,
shayari on aankhen in hindi,
ankhe quotes in hindi,
katil aankhen shayari,

इशारों के ऐसे तामझाम करते हैं !!
तुम्हारी आंखें हर रोज कत्ल-ए-आम करते हैं !!

वो आंखें जिन्हें देख कर मैं खो जाता हूं !!
जिनकी गलियों का मैं मुसाफिर बना हूं !!

मेरे भटकते इस मन को बस तेरा ही सहारा है !!
ये दिल तेरा गुलाम तेरी इन आंखों का मारा है !!

राहों में अपनी मुझे मंजिल मिल गई !!
तेरे नाम से जिंदगी आंखों से दिशा मिल गई !!

हम उनकी अदाओं पर ही मर मिटे है !!
उनसे कह दो हमे आँखें ना दिखाए !!

तेरे होने का गुमान है लेकिन !!
मग़र तेरी नजरे हम पर नहीं ये मलाल है हमको !!

तुम्हारी बातेँ तो भूल भी जाता हूं मैं !!
हाँ मगर आँखें नहीं भूल पाता !!

तेरे बाद एक ख्याल ये जरूर रहा है !!
तेरी आँखें ना देखने का मलाल जरूर रहा है !!

तेरी आंखों को आते है तरीके हजार !!
कर दिया मेरा दिल बेहाल !!

देखकर काजल की लकीरें उनकी आँखों में !!
पहली दफ़ा ये जाना कि ये चाँद की ख़ूबसूरती रात से क्यूं है !!

वो कहने लगी नकाब में भी पहचान लेते हो हजारों के बीच !!
मैंने मुस्करा के कहा तेरी आँखों से ही शुरू हुआ था इश्क हज़ारों के बीच !!

खुलते हैं मुझ पे राज कई इस जहान के !!
उसकी हसीन आँखों में जब झाँकता हूँ मैं !!

जाती है इस झील की गहराई कहाँ तक !!
आँखों में तेरी डूब के देखेंगे किसी रोज !!

झील अच्छा कँवल अच्छा के जाम अच्छा है !!
तेरी आँखों के लिए कौन सा नाम अच्छा है !!

आज भी प्यारी हैं मुझे तेरी हर निशानी !!
फिर चाहे वो दिल का दर्द हो या आँखों का पानी !!

आँसुओं से जिनकी आँखे नम नही !!
क्या समझते हो कि उन्हें कोई गम नही !!

Aankhen Shayari In Hindi

उफ्फ ये झील जैसी आंखे तेरी !!
इसमें तैरूं या डूबकर मर जाऊं !!

तेरी आँखों में रब दिखता हैं !!
क्योकि सनम मेरा दिल तेरे लिए धड़कता हैं !!

जो उनकी आँखों से बयां होते हैं !!
वो लफ़्ज शायरी में कहाँ होते हैं !!

बहुत अंदर तक तबाही मचाता हैं !!
वो आँसू जो आँखों से बह नही पाता हैं !!

आँसुओं से जिनकी आँखे नम नही !!
क्या समझते हो कि उन्हें कोई गम नही !!

हमारे दर आ जाओ !! सदा बरसात रहती हैं !!
कभी बादल बरसते हैं कभी आँखे बरसती हैं !!

आपकी आँखे है जैसे झील में उगता कमल !!
सागर की शायरी की हो कोई प्यारी गजल !!

अपनी शरबती दो आँखों से दो घूँट पी लेने दो !!
एक वजह दे दो जीने की जिन्दगी बसर कर लेने दो !!

आँखे मिलाने का शौक न था !!
तुम्हें देखा तो आदत खराब हो गयी !!

तेरी आँखों के जादू से तू ख़ुद नहीं हैं वाकिफ़ !!
ये उसे भी जीना सिखा देता जिसे मरने का शौक हो !!

आँखे थक गई हैं आसमान को देखते देखते !!
पर वो तारा नही टूटता जिसे देखकर तुम्हें माँग लूँ !!

दुःख गयी ये अखियाँ बहे खूब अश्क इसमें !!
छोड़ आये वो गलियाँ सहे खूब गम जिसमें !!

कई आँखों में रहती हैं !! कई बाहें बदलती हैं !!
मोहब्बत भी सियासत की तरह राहें बदलती हैं !!

याद आती है तो जरा खो लेते हैं !!
आंसू आँखों से उतर आये तो रो लेते हैं !!

फूल तो फूल है आँखों से घिरे रहते है !!
कांटे बेकार हिफाज़त में लगे रहते हैं !!

सुकून की तलाश में तुम्हारी आँखों में झाँका था किसे !!
पता था कम्बखत दिल का दर्द और मिल जाएगा !!

जो आँख भी मिलाने की इजाज़त नहीं देता !!
दिल उसको ही निगाहों में बसाने पर तुला है !!

सुना है तेरी आँखों मैं सितारे जगमगाते हैं इजाज़त !!
हो तो मैं भी अपने दिल मै रोशनी कर लों !!

बहुत अंदर तक तबाही मचाता है !!
वो आँसू जो आँखों से बह नहीं पता है !!

मेरी इन पागल आँखों को !!
लत लग गयी तुझे देखने की !!

तेरी आँखों में बहुत गहराई है !!
पर आशिक़ो के लिए तबाही है !!

चख के देख ली दुनिया भर की शराब की बोतलें !!
जो नशा तेरी आँखों में था वो किसी में नहीं !!

इसे भी पढ़े :- Alone Shayari In Hindi 2023 | अलोन शायरी इन हिंदी

Aankhen Shayari

हम अल्फ़ाज़ों को ढूँढ़ते रह गए !!
और वो आँखों से ग़ज़ल कह गये !!

जीना मुहाल कर रखा है मेरा इन आँखों ने तेरे !!
खुली हो तो तलाश तेरी बंद हो तो ख्वाब तेरे !!

चलती फिरती आँखों से अजाँ देखी है !!
मैंने जन्नत तो नहीं देखी है माँ देखी हैं !!

कैद खाने है बिन सलाखों के !!
कुछ यूँ चर्चें है तुम्हारी आँखों के !!

जो सुरूर है तेरी आँखों में वो बात कहाँ मैखाने में !!
बस तू मिल जाए तो फिर क्या रखा है जमाने में !!

दिल के बहुत अन्दर तक तबाही मचाता हैं !!
वो दर्द का आँसू जो आँखों से बाहर नही आता हैं !!

लोग कहते है कि तू अब भी खफ़ा है मुझसे !!
तेरी आँखों ने तो कुछ और कहा है मुझसे !!

मरीज-ए-मोहब्बत हूँ इक तेरा दीदार काफी है !!
हर एक दवा से बेहतर निगाहें-ए-यार काफी है !!

झुकी नजर तेरी कमाल कर जाती हैं !!
उठती है तो एक बार में सौ सवाल कर जाती हैं !!

जहाँ बोलने से नहीं बातें आँखों से होती है !!
वहाँ रूठने के बाद ना मानने की गुंजाइश नहीं होती है !!

हम अल्फाज़ों को ढूंढते रह गये !!
और वो आँखों से गजल कह गये !!

आँखें ही बना देती है दीवाना किसी का !!
आँखें ही बसा देती है घराना किसी का !!

आँखें थक गई है आसमान को देखते देखते !!
पर वो तारा नहीं टूटता जिसे देखकर तुम्हें मांग लूँ !!

जो दिखाई देता वो हमेशा सच नहीं होता है !!
कहीं धोखे में आँखे है तो कही आँखों में धोखा होता है !!

मुझे देखकर शर्माती है उनकी आँखें !!
बिना बोले बहुत कुछ कहती है उनकी आँखें !!

जब बिखरेगा तेरी गालों पे तेरी आँखों का पानी !!
तब तुझे एहसास होगा की मोहब्बत किसे कहते है !!

हम मोहब्बत का सबक़ भूल गए !!
तेरी आँखों ने पढ़ाया क्या है !!

हम तो फना हो गए उनकी आँखें देखकर !!
ग़ालिब न जाने वो आइना कैसे देखते होंगे !!

आज भी प्यारी हैं मुझे तेरी हर निशानी !!
फिर चाहे वो दिल का दर्द हो या आँखों का पानी !!

मुझे देखते ही शर्मा कर झुक जाते हैं तेरे नैना !!
बहुत भाता है मुझे तेरा इस तरह मुझे दीवाना करना !!

जो सुरूर है तेरी आँखों में वो बात कहां मैखाने में !!
बस तू मिल जाए तो फिर क्या रखा है ज़माने में !!

इसे भी पढ़े :- 5 Top Software Companies in the USA with List

आँखें शायरी हिंदी

पलके क्या बंद की दीदार तुम्हारा हो गया !!
इन आंखों में नींद नहीं बस तुम रहते हो !!

आंखे देखती ही नहीं बाते भी करती हैं !!
खामोश शब्दों से इशारों ही इशारों में !!

तुम्हारी निगाहें बहुत बोलती हैं जरा !!
अपनी आँखों पे पलके गिरा दो !!

मेरे होठों ने हर बात छुपा कर रखी थी !!
आँखों को ये हुनर कभी आया ही नहीं !!

झील अच्छी कमल फूल अच्छा की जाम अच्छा !!
है तेरी आँखों के लिए कौन सा नाम अच्छा है !!

तेरे बिन बोले ही मुझे मेरे प्यार का जवाब मिल गया !!
तेरी नज़रे झुकी और हमारे प्यार का फूल खिल गया !!

अपनी तस्वीर को आँखों से लगाता क्या है !!
एक नज़र मेरी तरफ देख तेरा जाता क्या है !!

मुझसे जब भी मिलो नजरें उठाकर मिलो मुझे !!
पसंद है अपने आप को तुम्हारी आँखों में देखना !!

तुमने कहा था आँख भर के देख लिया करो मुझे !!
अब आँख भर आती है पर तुम नज़र नहीं आते !!

हर बार तेरी मुस्कुराती आँखों को देखता हूँ !!
चला आता हूँ तेरे पास ख़यालों में उड़ते हुए !!

तेरी निगाहों के जाल में ऐसा फंस गया !!
ना चाहते हुए भी सिर्फ तेरा हो गया !!

आँख से दूर न हो दिल से उतर जाएगा !!
वक़्त का क्या है गुजरता है गुजर जाएगा !!

मेरे बस में अगर होता हटा कर चाँद तारों को !!
मैं नीले आसमां पे बस तेरी आँखें बना देता !!

तेरे दिल के सारे राज खोलती है !!
तुझसे ज्यादा तेरी आंखे बोलती है !!

हज़ार बार मरना चाहा निगाहों मैं डूब कर !!
हमने वो निगाहें झुका लेते हैं हमें मरने नहीं देते !!

कैद खानें हैं बिन सलाखों के !!
कुछ यूँ चर्चे हैं तुम्हारी आँखों के !!

नींद को आज भी शिकवा है मेरी आँखों से मैंने !!
आने न दिया उसको कभी तेरी याद से पहले !!

बिना पूछे ही सुलझ जाती हैं सवालों की गुत्थियाँ !!
कुछ आँखें इतनी हाज़िर-जवाब होती हैं !!

रुख़्सत करने के आदाब निभाने ही थे !!
बंद आँखों से उस को जाता देख लिया है !!

उसकी आँखें सवाल करती हैं !!
मेरी हिम्मत जवाब देती है !!

इसे भी पढ़े :- Shared vs. VPS vs. Dedicated Hosting

Aankhen shayari

क्या कशिश थी तुम्हारी आँखों मे !!
तुझको देखा और तेरा हो गया !!

तुम्हारी याद में आँखों का रतजगा है !!
कोई ख़्वाब नया आए तो कैसे आए !!

तुम्हारे दिल के सारे राज मेरे सामने खोल देती है !!

यूँ ही अंखियों में तेरी मेरी बात चली !!
बात यहां तक पहुंची मैंने तेरे बिना जीना सिख लिया !!

छोड़ दो करना मेरी !!
इन आंखो की तारीफे !!
तुम जब मेरे इश्क की !!
गहराई ना देख सके !!

तेरी आंखो में मुझे प्यार नजर आता है !!
जब भी तुम मुझे देखते हो !!
मेरी आंखों का काजल ओर !!
भी गहरा हो जाता है !!

जब जुबान पर पाबंदी लग जाती है !!
तो बिना अल्फाज कहे नजरे !!
सब कुछ बयां कर जाती है !!

मैं जिसे ओढ़ता-बिछाता हूँ !!
वो ग़ज़ल आपको सुनाता हूँ !!
एक जंगल है तेरी आँखों में !!
मैं जहाँ राह भूल जाता हूँ !!

हमेशा जो खुद को सजाये रखते हैं !!
अंदर और ही हुलिया बनाये रखते हैं !!
पत्थर आँखें ही दिखाई देती हैं और !!
दिल में एक दरया सा रुकाये रखते हैं !!

वो कहने लगी नकाब में भी पहचान लेते हो !!
हजारों के बीच मैंने मुस्करा के कहा तेरी !!
आँखों से ही शुरू हुआ था इश्क हज़ारों के बीच !!

न जाने क्या कशिश है उसकी मदहोश !!
आँखों में नज़र अंदाज़ जितना भी करों !!
नज़र उसी पर जाती है !!

ये आईने नही दे सकते तुम्हे तुम्हारी खूबसूरती !!
की सच्ची ख़बर कभी मेरी इन आँखों में !!
झांक कर देखो की कितनी हसीन हो !!

बात जो भी दिल में मुझसे सारी कहना !!
चाहे कितनी भी नाराजगी हो नेत्रों के सामने ही रहना !!
बहुत दूरी सह ली हमने अब एक पल कि भी जुदाई नहीं है सहना !!

इसे भी पढ़े :- Best Love Couple Shayari in Hindi with Images | लव कपल शायरी फोटो

Shayari on aankhen

पर्दा करती हो तो करो !!
हम तो फिर भी मोहब्बत करेंगे !!
भला जिसकी आंखे इतनी खूबसूरत हो !!
तो सूरत तो माशाल्लाह होगी !!

आपकी आँखें उठी तो दुआ बन गई आपकी आँखें
झुकी तो अदा बन गई झुक कर उठी तो हया
बन गई उठ कर झुकी तो सदा बन गई !!

इकरार में शब्दों की एहमियत नहीं होती !!
दिल के जज़्बात की आवाज़ नहीं होती !!
आँखें बयान कर देती है दिल की दास्तान !!
मोहब्बत लफ्जों की मोहताज नहीं होती !!

जब से तू मेरे दिल में समाया है !!
मेरी निगाहों को सिर्फ तेरा ख्वाब आया है !!
तेरी जुबां पर मेरा नाम आये ना आये !!
मेरी तो हर सांस में तेरा नाम आया है !!

तुझसे दूर हुए तो रह ना पाएंगे !!
अपना दर्द हम कह ना पाएंगे !!
कभी दूर जाने की बात ना कहना !!
वरना अभी मेरे नैन बरस जाएंगे !!

मेरी धड़कन मेरी जान हो तुम !!
निगाहों का देखा हर ख्वाब हो तुम !!
तारीफ क्या करूं तुम्हारी !!
हर अदा से लाजवाब हो तुम !!

तेरे होंठो पर जो मुस्कान छाई है !!
तेरी आंखों में जो चमक आई है !!
हो ना हो तेरे चेहरे पर ये रंगत !!
मेरे प्यार की वजह से ही आई है !!

ना जाने कौन सा जादू है तेरी बाहों में !!
शराब सा नशा है तेरी आँखों में !!
तेरी तलाश में तेरे मिलने की आस लिए !!
दुआऐं मांगता फिरता हूँ मैं दरगाहों में !!

रात गुजारी फिर महकती सुबह आई दिल धड़का !!
फिर तुम्हारी याद आई आँखों ने महसूस किया !!
उस हवा को जो तुम्हें छु कर हमारे पास आई !!

तेरी हर अदा नशीली है इतनी की !!
किसी और नशे की जरुरत ही न पड़े !!
डूब जाना चाहता हु तेरी आँखों में !!
इतना की निकलने की जरुरत न पड़े !!

ये तमाशा सरेआम करती है !!
तुम्हारी कातिल निगाहे !!
आशिको के कत्ल-ए-आम करती है !!

सागर से गहरी हैं आपकी ये नजरें !!
खुशियों की शहनाई हैं आपकी ये नजरें !!
हुस्न का जाम हैं आपकी ये नजरें !!
छुपायें कई अरमान आपकी ये नजरें !!
ले ले न कहीं हमारी जान आपकी ये नजरें !!

न तड़पता दिल !! न रोती आँखें !!
न लबों पर नाम कोई और होता !!
हम तेरी तमन्ना ही क्यों करते !!
अगर तेरे जैसा कोई और होता !!

Aankhen shayari in hindi

दिल की बातें बता देती हैं आँखे !!
धड़कनों को जगा देती हैं आँखे !!
दिल पे चलता नही जादू चेहरों का कभी !!
दिल को तो दीवाना बना देती हैं आँखे !!

आँखे ही बना देती हैं फ़साना किसी का !!
आँखे ही बना देती हैं दीवाना किसी का !!
आँखे ही हँसाती हैं !! आँखे ही रूलाती हैं !!
आँखे ही बसा देती हैं घराना किसी का !!

तेरी याद को पसंद आ गई हैं !!
मेरी आँखों की नमी !!
हँसना भी चाहूँ तो रूला !!
देती हैं तेरी कमी !!

ये आँखे न होती ये नजारा न होता !!
आँखों से मोहब्बत पढ़ने का फ़साना न होता !!
रात की गहराई आँखों में उतर आई !!
कुछ ख्वाब थे और कुछ मेरी तन्हाई !!
ये जो पलकों से बह रहे हैं हल्के हल्के !!
कुछ तो मजबूरी थी कुछ मेरी बेवफ़ाई !!

मोहब्बत के भी कुछ राज होते हैं !!
जागती आँखों में भी ख्वाब होते हैं !!
जरूरी नही हैं कि गम में ही आँसू आएँ !!
मुस्कुराती आँखों में भी सैलाब होते हैं !!

आपकी आँखे ऊँची हुई तो दुआ बन गयी !!
नीची हुई तो हया बन गयी !!
जो झुक कर उठी तो खता बन गयी !!
और उठ कर झुकी तो अदा बन गयी !!

नशीली आँखों से वो जब हमें देखते हैं !!
हम घबरा कर आँखे झुका लेते हैं !!
कौन मिलाये उन आँखों से आँखें !!
सुना हैं वो आँखों से अपना बना लेते हैं !!

पलकें तो आँखों की हिफ़ाजत होती हैं !!
धड़कन तो दिल की अमानत होती हैं !!
ये दोस्ती का रिश्ता भी अजीब हैं !!
कभी चाहत तो कभी शिकायत होती हैं !!

नजरें झुकी तो पैमाने बने !!
दिल टूटे तो महखाने बने !!
कुछ तो हैं आप में क्योकि !!
यूँ ही नहीं हम आपके दीवाने बने !!

महकता हुआ जिस्म तेरा गुलाब जैसा है !!
नींद के सफर में तू एक ख्वाब जैसा है !!
दो घूँट पी लेने दे आँखों के इस प्याले से !!
नशा तेरी आँखों का शराब जैसा है !!

नशा जरूरी है ज़िन्दगी के लिए !!
पर सिर्फ शराब ही नहीं है बेखुदी के लिए !!
किसी की मस्त निगाहों में डूब जाओ !!
बड़ा हसीं समंदर है ख़ुदकुशी के लिए !!

हम भटकते रहे थे अनजान राहों में !!
रात दिन काट रहे थे यूँ ही बस आहों में !!
अब तम्मना हुई है फिर से जीने की हमें !!
कुछ तो बात है सनम तेरी इन निगाहों में !!

महफिल अजीब है !! ना ये मंजर अजीब है !!
जो उसने चलाया वो खंजर अजीब है !!
ना डूबने देता है !! ना उबरने देता है !!
उसकी आँखों का वो समंदर अजीब है !!

Aankhen quotes in hindi

दूरियों की परवाह न कीजिए !!
जब दिल करे बुला लीजिए !!
हम ज्यादा दूर नहीं आपसे !!
बस आँखों को पलकों से मिला लीजिए !!

मेरे दिल को इश्क़ का ख्वाब दिखाता है !!
वो रातों में मुझे बहुत जगाता है !!
मैं अपने आँखों में काजल लगाऊं कैसे !!
इन आँखों को वो रुलाता बहुत हैं !!

जो धड़कने से पहले ही !!
धड़कनों का हाल बता दे !!
वो क्या नफ़रत करेगा !!
जो आँखों ही आँखों में प्यार जता दे !!

तेरी आँखें अब नया आयाम देती है !!
जिन्दगी जीने का वो पैगाम देती है !!
तब सुबह तन्हाईयों में डूबी रहती थी !!
तेरी यादे अब सुनहरी शाम देती हैं !!

इकरार में शब्दों की एहमियत नहीं होती !!
दिल के जज्बात की आवाज नहीं होती !!
आँखें बयान कर देती है दिल की दास्ताँ !!
मोहब्बत लफ्ज़ों की मोहताज नहीं होती !!

तलाश करोगे तो मिल ही जाएगा !!
मगर कौन तुम्हें हमारी तरह चाहेगा !!
तुम्हें जरूर कोई चाहतों से देखेगा !!
मगर हमारी आँखें कहाँ से लाएगा !!

हमारे शहर आ जाओ !!
सदा बरसात रहती है !!
कभी बादल बरसते हैं !!
कभी आँखें बरसती हैं !!

सब ने तेरी आँखे तेरा चेहरा देखा है !!
हमने तेरी हँसी में गम गहरा देखा है !!
ये चाँदनी कभी खुल के बिखरती नहीं है !!
हमने चाँद पर समाज का पहरा देखा हैं !!

रात को आये हर ख्वाब को !!
आँखें सपना बना लेती है !!
जिसे देख ले एक बार प्यार से !!
उसे अपना बना लेती है !!

खूबसूरत तुम्हारी आँखें !!
आँखों में हया भी है !!
इनपे दुनिया मैं वार देता !!
पर ये चीज खुदा की है !!

आपकी आँखें उठी तो दुआ बन गई !!
आपकी आँखें झुकी तो अदा बन गई !!
झुक कर उठी तो हया बन गई !!
उठ कर झुकी तो सदा बन गई !!

आँखों में हया हो तो !!
पर्दा दिल का ही काफी है !!
नहीं तो नक़ाब से भी होते हैं !!
इशारे मोहब्बत के !!

2 Line shayari on eyes in hindi

उस घड़ी देखो उनका आलम !!
नींद से जब हों बोझल आँखें !!
कौन मेरी नजर में समाये !!
देखी हैं मैंने तुम्हारी आँखें !!

उठती नहीं है आँख किसी और की तरफ !!
पाबन्द कर गयी है किसी की नजर मुझे !!
ईमान की तो ये है कि ईमान अब कहाँ !!
काफ़िर बना गई तेरी काफ़िर-नज़र मुझे !!

महकता हुआ जिस्म तेरा गुलाब जैसा है !!
नींद के सफर में तू एक ख्वाब जैसा है !!
दो घूँट पी लेने दे आँखों के इस प्याले से !!
नशा तेरी आँखों का शराब जैसा है !!

ना जाने कौन सा जादू है तेरी बाहों में !!
शराब सा नशा है तेरी आँखों में !!
तेरी तलाश में तेरे मिलने की आस लिए !!
दुआऐं मांगता फिरता हूँ मैं दरगाहों में !!

आँखें नीची हैं तो हया बन गई !!
आखें ऊँची हैं तो दुआ बन गई !!
आँखें उठ कर झुकी तो अड़ा बन गई !!
आँखें झुक कर उठी तो कदा बन गई !!

हम भटकते रहे थे अनजान राहों में !!
रात दिन काट रहे थे यूँ ही बस आहों में !!
अब तमन्ना हुई है फिर से जीने की हमें !!
कुछ तो बात है सनम तेरी इन निगाहों में !!

देख कर मेरी आँखें !!
एक फ़कीर कहने लगा !!
पलकें तुम्हारी नाज़ुक हैं !!
ख्वाबों का वज़न कम कीजिये !!

कभी पैगाम लिआ है !!
कभी पैग़ाम दिआ है !!
आँखों ने मुहब्बत मे बड़ा काम किआ है !!

रात गुजारी फिर महकती सुबह आई !!
दिल धड़का फिर तुम्हारी याद आई.
आँखों ने महसूस किया उस हवा को !!
जो तुम्हें छु कर हमारे पास आई !!

आँखों में हया हो तो !!
पर्दा दिल का ही काफी है !!
नहीं तो नक़ाब से भी होते हैं !!
इशारे मोहब्बत के !!

महकता हुआ जिस्म तेरा गुलाब जैसा है !!
नींद के सफर में तू एक ख्वाब जैसा है !!
दो घूँट पी लेने दे आँखों के प्याले से !!
नशा तेरी आँखों का शराब जैसा है !!

तेरी आँखों के जादू से !!
तू ख़ुद नहीं है वाकिफ़ !!
ये उसे भी जीना सिखा देती हैं !!
जिसे मरने का शौक़ हो !!

नशा जरूरी है ज़िन्दगी के लिए !!
पर सिर्फ शराब ही नहीं है बेखुदी के लिए !!
किसी की मस्त निगाहों में डूब जाओ !!
बड़ा हसीं समंदर है ख़ुदकुशी के लिए !!

कैसे कोई इन आंखों को !!
आंसू दे सकता है !!
जो हंस कर मोती बिखेरते हैं !!
और रो कर सैलाब !!

मेरी जान की आंखें गहरी बहुत हैं !!
मेरे सारे राज उसने कुछ यूं छिपाए हैं !!
मेरी हमराज भी रही है !!
मुझे आइना भी दिखाया है !!

दूब सा जाता हूं !!
उसकी आंखों में !!
जब वो मुस्कुराती है तो !!
आंखें उसकी चमकती है !!

दिल मेरा बैठ जाता है उसकी आंखों में !!
आंसू देख कर खुश भी हो जाता हूं !!
मैं उसकी एक मुस्कान को देख कर !!

आंखें बार बार उसकी कुछ पूछती हैं मुझसे !!
क्यूं उन्हें देख कर भटक जाता हूं !!
उन्हीं की राहों में दिल मैं अपना हारा हूं !!

डूब रहा हूं मैं !!
एक गहरे नीले समंदर में !!
जहां नीलापन तेरी आंखो का !!
और पानी प्यार का है !!
मुझे तैरना नहीं है !!
ना ही किसी छोर पर जाना है !!

इकरार और इजहार !!
बस करना आज ही है !!
तेरी झील सी आंखों में !!
मुझे डूबना बस आज ही है !!

कैसे इतनी मासूम अदाएं है !!
तेरी झलक देख लूं एक !!
यही दुआएं हैं मेरी !!
आंखे तेरी मोती सी चमकती है !!
इन्हीं में दिखती मुझे दुनिया है मेरी !!

तेरे होंठों ने जो बात छुपाई है !!
तेरी आंखों ने वो चुपके से बताई है !!
राज दफन कर ले सीने में हज़ार !!
तेरी आंखों ने हर एक सच्चाई बताई है !!

मेरे दिल का फूल कोई !!
चुरा के ले गया !!
अपनी नशीली आंखों से !!
मुझे बहका कर ले गया !!

इंतेज़ार में उसके कितनी रातें बीता दी !!
मेरे दिल ने सदके में सारी उम्मीदें लुटा दी !!
कुसूर तो उसकी आंखों का था !!
जिन पर मैंने अपनी दुनिया लुटा दी !!

पढ़ कर आंखें उसकी !!
मैंने एक ख्वाब सजा लिया !!
जो दूर था मुझसे !!
उस चांद को अपना बना लिया !!

रूहानियत तेरी आंखों में !!
कुछ यूं झलकती है !!
मैं बैठा रहता हूं दिन भर !!
तुझे देखता हुए !!
फिर भी ये आशिकी !!
बस तेरे लिए तरसती है !!

दिल टूटे चाहे जितना भी !!
उस हिम्मत तो दिखानी ही पड़ती है !!
मजबूत हो इंसान कितना भी !!
उसकी दास्तां उसकी आंखो !!
से दिखाई पड़ती है !!

मेहबूब की बाहों में !!
दिन भी पल जैसे बीत जाते हैं !!
वो तो बस मासूमियत दिखाते हैं !!
और हम उनकी आंखों में खो जाते हैं !!

वक़्त बीत गया इतना !!
बार ना तुम बदली !!
ना तुम्हारी ये आंखें !!
आज भी मासूमियत से !!
मुझे उसी तरह देखती हैं !!

दिलों में बेताबी बस दिनों के साथ बढ़ती गई !!
तुम साथ थी मेरे फिर क्यूं मुझे छोड़ गई !!
आंखें तुम्हारी सच कितना बोलती हैं !!
तुमने ना कहा पर जानता हूं !!
तुम मेरी तकदीर से मुंह मोड़ गई !!

aankhen shayari hindi

नशा कोई है दुनिया में !!
तो वो तेरी निगाहों का है !!
मैं बस एक बार कायल हुआ !!
आज मुद्दातों के बाद भी असर है !!

गहरा काजल जो तुम लगाती हो !!
धीरे से मेरे दिल को चुराती हो !!
आंखें कम थी तुम्हारी वार करने को !!
जो अब इन अदाओं से भी मेरे होश उड़ाती हो !!

कैसे तुझे प्यार करूं !!
की तेरी आंखें कभी नम ना हों !!
तू खुश रहे हमेशा !!
तेरी जिंदगी में कोई गम ना हो !!

Rate this post

Leave a Comment